Monday, March 5, 2018

जिन्ना ने नहीं जवाहर लाल नेहरू ने बनाया पाकिस्तान: फारूक अब्दुल्ला

Jawahar Lal Nehru, Mohammad Ali Jinnah,



शनिवार को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नैशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता फारूक अब्दुल्ला ने  एक अजीब बयान दे कर सुर्खियो में आ गए है। उनके मुताबिक मोहम्मद अली जिन्ना नहीं चाहते थे मुसलमानों के देश का बंटवारा होकर पाकिस्तान बने।
लेकिन भारतीय नेताओं ने मुस्लिम और सिखों के लिए ‘माइनॉरिटी स्टेटस’ देने से मना कर दिया जिसके बाद पाकिस्तान की मांग उठी।
चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री जम्मू की ओर से चैंबर हाउस में आयोजित कार्यक्रम में फारूक ने कहा कि,  पंडित जवाहर लाल नेहरू के कारण भारत का विभाजन हुआ और पाकिस्तान का जन्म हुआ। उन्होंने कहा कि, मोहम्मद अली जिन्ना महज उस कमीशन की बात मानने के पक्ष में थे जिसमें, मुस्लिमों, सिखों सहित अन्य अल्पसंख्यकों को विशेष अधिकार देने की बात कही जा रही थी।

अब्दुल्ला ने कहा कि, जिन्ना ने इसे मान लिया लेकिन जवाहरलाल नेहरू, मौलाना आजाद और सरदार पटेल ने इसे नहीं स्वीकार किया। उन्होंने कहा, जब यह नहीं हुआ तो जिन्ना फिर से अलग देश पाकिस्तान बनाने की मांग करने लगे।

उन्होंने कहा कि, अगर उस समय कमीशन की शर्तें मान ली गई होती तो आज भारत का विभाजन ना हुआ होता। आज पाकिस्तान, बांग्लादेश और भारत नहीं बल्कि एक हिंदुस्तान होता।

आपको यह बता दे कमीशन में फैसला हुआ था कि हिंदुस्तान का बंटवारा करने के बजाय मुसलमानों के लिए अलग से लीडरशिप रखेंगे। साथ ही अल्पसंख्यकों और सिखों के लिए अलग से व्यवस्था रखेंगे।-Janpost

No comments:

Post a Comment

Find the post useful/interesting? Share it by clicking the buttons below